पूरनपुर गन्ना कृषक महाविद्यालय में प्रवक्ता को समय से पहले रिटायर किया जा रहा

*पूरनपुर गन्ना कृषक महाविद्यालय में प्रवक्ता को समय से पहले रिटायर किया जा रहा है*

संजय शुक्ला

 


पूरनपुर गन्ना कृषक महाविद्यालय में हिंदी प्रवक्ता को समय से पहले रिटायर किये जाने का मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिससे कुछ लोगों में है आक्रोश है लोगों से मीडिया के द्वारा ली गई जानकारी के अनुसार ये मामला संज्ञान में आया है

 

कि गन्ना कृषक महाविद्यालय पूरनपुर की हिंदी प्रवक्ता जिनकी रिटायर होने की आयु पूरी हो रही है शिक्षा विभाग में यह नियम भी है और परंपरा भी है कि जब सत्र समाप्त होता है तब उस व्यक्ति को रिटायर किया जाता है जबकि गन्ना कृषक महाविद्यालय पूरनपुर प्रबंध समिति की एक मीटिंग हुई जिसके अध्यक्ष जिला गन्ना अधिकारी हैं उनकी अध्यक्षता मे हुई ,मीटिंग मे निर्णय लिया गया कि डॉ नसरीन बानो को 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त कर दिया जाए डॉक्टर नसरीन बानो को 6 महीने पहले ही क्यों सेवानिवृत्त किया जा रहा है नोमान वारसी का कहना है कि इससे समाज में एक संदेश जा रहा है कि वह अल्पसंख्यक समुदाय से है इसलिए उनके साथ यह अन्याय किया जा रहा है जो कि सरा सर गलत है। जिसपर तत्काल एक्शन लिया जाए जिनको 6 महीने के कार्यकाल से पहले रिटायर किया जा रहा है इस प्रस्ताव को कैंसिल किया जाए जिसकी शिकायत मीनू बरकाती ने जिला अधिकारी महोदय पीलीभीत एंव कुलपति बरेली से की है
नोमान अली वारसी ने कहा गन्ना कृषक महाविद्यालय में की जा रही नियुक्तियों में नही बरती जा रही पारदर्शिता, महाविद्यालय हो राजनीतिक गुटवाजी का शिकार
अभी समय भी है परंतु प्रबंध समिति की हुई बैठक में उनको सत्र से पूर्व भी पद मुक्त कर दूसरी नियुक्ति की गई है जो अनुचित है महाविद्यालय में हो रही नियुक्तियों में पारदर्शिता नहीं बरती जा रही साथ ही महाविद्यालय भी गुटबाजी का शिकार हो रहा है प्राचार्य द्वारा महाविद्यालय में एक राजनीतिक दल विशेष के लोगों को बढ़ावा दिया जा रहा है साथ ही प्राचार्य भी मनमानी पर उतारू है जल्द ही इस संबंध में नोमान अली वारसी समाजवादी छात्र सभा एंव टी टी एस समाजसेवी मीनू बरकाती आदि रणनीति तय कर आंदोलन को बाद दोगी जिससे छात्र-छात्राओं का भविष्य के साथ खिलवाड़ ना हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *