मॉडल प्राइमरी, और उच्च जूनियर प्राथमिक स्कूल में आज बच्चे रहे भूखे

जमुनिया खास

मॉडल प्राइमरी एवं उच्च प्राथमिक स्कूल में नहीं बना मिड डे मिल बच्चे रहे भूखे।
इस महीने स्कूल में नही आया सरकारी राशन, कई दिनों से प्रधानाध्यापक बनवा रही स्कूल में खाना।
जमुनियां खास (पीलीभीत)
सरकार का स्कूलो एवं शिक्षा को लेकर काफी शक्त रुख है सरकार द्वारा स्कूली बच्चों को किताबो ड्रेस से लेकर खाने की व्यवस्था की गई है, लेकिन निचले स्तर पर मिडडेमील से संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों की मिलीभगत मनमानी के चलते बच्चो को स्कूल में खाना नही मिल पा रहा है,जिसकी बजह से बच्चों को भूखे रह कर स्कूल में पढ़ाई करनी पड़ रही,
तहसील कलीनगर क्षेत्र के गांव खासपुर में मॉडल प्राइमरी स्कूल में मंगलवार को मिडडेमिल नही बना, स्कूल के बच्चों को भूखा रहना पड़ा,जिसकी बजह से बच्चो को भूखे रह कर पढ़ाई करनी पड़ी,ग्राम प्रधान एव प्रधानाध्यापक की घोर लापरवाही के चलते मॉडल प्राइमरी स्कूल खासपुर में खाना नहीं बन सका,रोजाना की तरह बच्चे स्कूल में घर से खाना न खाकर गए थे, स्कूल में जब खाना खाने का समय हुआ तो भूख से तड़पते बच्चे रसोई घर की तरफ निहारते रहे लेकिन विद्यालय में तैनात अध्यापकों को बच्चों की दशा पर जर्रा सा भी तरस नहीं आया,दोनों विद्यालय में खाना न बनने के करण एव बच्चो को खाना न मिलने की गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है,स्कूल में लगभग डेढ़ सौ बच्चो आए थे जिनको खाना नही मिला है।

प्रधानाध्यापक शकुंतला ने बताया कि-इस महीने खाद्यान नहीं आया है कई दिनों से हम अपनी तरफ से राशन मंगवाकर विद्यालय में खाना बनवाते हैं लेकिन आज राशन न मिलने की वजह से विद्यालय में खाना नहीं बन पाया है ग्राम प्रधान से कहने के बावजूद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया गया एवं खाना बनाने से मना कर दिया।

सुरेश पाल खण्ड शिक्षा अधिकारी-का कहना है कि शालनी ने निलंबित होने के कारण मिडडेमिल नही बन पाया जल्द व्यवस्था की जाएगी।

समबाददाता

ब्रम्हपाल  यादव पीलीभीत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *