Thu. Jan 28th, 2021

रूहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर अनिल शुक्ल ने दूरदर्शन चैनल पर आम जनता को संबोधित किया।

*सूचना*

रूहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर अनिल शुक्ल ने दूरदर्शन चैनल पर आम जनता को संबोधित किया।

 

रूहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर अनिल शुक्ल ने दूरदर्शन चैनल पर आम जनता को संबोधित किया। अपने संबोधन में कुलपति महोदय ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकार द्वारा दिए गए दिशा- निर्देशों का पालन करने में ही हमारी भलाई है। इस बीमारी से बचने का उपाय केवल जागरूकता है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का पालन करके तथा भारतीय संस्कृति को अपना
कर ही हम इस बीमारी को हरा सकते हैं।
उन्होंने विद्यार्थियों से अपील की कि लॉक
डाउन की अवधि का अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए सदुपयोग करें। परीक्षा की तैयारी के लिए विश्वविद्यालय द्वारा ऑनलाइन पाठ्य सामग्री निरंतर उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि
03 मई 2020 के बाद लॉक डाउन खुलने के पश्चात एक सप्ताह के अंदर परीक्षाएं संपन्न कराए जाने पर विश्वविद्यालय विचार कर रहा है। अतः कम समय में परीक्षा कराने हेतु विश्व विद्यालय का सहयोग करें। उन्होंने विद्यार्थियों से यह भी अपील की वह कोरोना वॉलिंटियर के रूप में कार्य करें।
कुलपति महोदय के संबोधन के क्रम में समस्त विद्यार्थियों को यह अवगत कराया जाता है कि विद्यार्थी समय का सदुपयोग करते हुए मन लगाकर परीक्षा की तैयारी करें। विश्वविद्यालय से परीक्षा कार्यक्रम घोषित होते ही उन्हें इसकी सूचना दे दी जाएगी।
*डॉक्टर सुधीर कुमार शर्मा* ( प्राचार्य) गन्ना कृषक स्नातकोत्तर महाविद्यालय पूरनपुर , (पीलीभीत)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

*पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा थाना बीसलपुर पर किया गया अर्दली रूम*                        आज दिनांक 16-01-21 को पुलिस अधीक्षक पीलीभीत श्री जयप्रकाश महोदय द्वारा थाना बीसलपुर पीलीभीत पर अर्दली रूम किया गया जिसमें अपराध नियंत्रण व विवेचनाओं की जानकारी ली। सर्वप्रथम महोदय ने महिला हेल्प डेस्क कार्यालय, थाना कार्यालय, सीसीटीएनएस कार्यालय, बैरिक, हवालात, मैस एवं थाना परिसर का भी निरीक्षण किया गया तथा साफ सफाई रखने आदि आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए, इसके उपरांत पुलिस अधीक्षक महोदय ने कोरोना वायरस के दृष्टिगत सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुये एक-एक कर सभी विवेचकों से विवेचनाओं की जानकारी ली और सभी विवेचकों से लंबित विवेचनाओं को शीघ्र निस्तारित करने एवं वांछित अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी के निर्देश दिये।