Thu. Oct 29th, 2020

जिला अधिकारी के आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जियां प्रशासन नहीं कर रहा है ओवर रेटिंग के मामले में कानूनी कार्यवाही

जिला अधिकारी के आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जियां प्रशासन नहीं कर रहा है ओवर रेटिंग के मामले में कानूनी कार्यवाही

पीलीभीत पूरनपुर नगर व तहसील क्षेत्र के सभी किराना स्टोर पर खाने पीने सहित दैनिक आवश्यकताओं की चीजों पर रेट बढ़ गए हैं अगर दुकानदारों से पूछो कि वह सामान पर पैसा बढ़ाकर क्यों ले रहे हो वह थोक विक्रेता से ही सामान महंगा मिलने की बात कह कर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। और कहते हैंl

कि नगर में जो बड़े-बड़े होलसेलर बैठे हैं वह लोग हमसे रेट बढ़ा कर ले रहे हैं तो हमको भी हर सामान महँगा बेचना पड़ रहा है। कुल मिलाकर शासन के आदेशों पर प्रशासन द्वारा सभी दैनिक आवश्यकताओं सहित खाद्यान्न सामग्री व सब्जियों के लिए निर्धारित किए गए मूल्यों के अनुसार कोई भी चीज बाजार में लोगों को नहीं मिल पा रही है।

ऐसे में मजबूरन लोग अधिक कीमतों में सामान खरीदने को विवश हैं जिसके चलते शीघ्र लोगों के पास रखा धन समाप्त हो जाएगा और लॉक डाउन अवधि समाप्ति से पहले ही लोगों के सामने आर्थिक समस्या खड़ी हो जाएगी।
बतादें कि आटा हो, चावल हो, चीनी हो, दाले हो, चाय पत्ती हो, दूध हो अथवा दैनिक उपयोग की कोई भी ऐसी सामग्री हो जिसके बिना लोगों को जीवन यापन करने में कठिनाई होती हो ऐसी चीजों पर लॉक डाउन के चलते लोगों से निर्धारित कीमतों से अधिक वसूली किए जाने के चलते आमजन आर्थिक उत्पीड़न का लगातार शिकार हो रहा है। शासन के आदेशों पर प्रशासन भले ही डोर टू डोर निर्धारित की गई कीमतों पर खाद्यान्न सामग्री एवं दैनिक आवश्यकताओं की आपूर्ति किए जाने के दावे कर रहा हो लेकिन यह दावे कितने प्रभावी हैं इसका सहज अंदाजा बाजार में दैनिक आवश्यकताओं की चीजें खरीदने के लिए निकलने वाली भीड़ को देखकर सहज रूप से लगाया जा सकता है। दैनिक आवश्यकताओं एवं खाद्यान्न सामग्री की कीमतें आसमान छू रही हैं जिसके चलते जहां गरीब जनता बेहाल है वहीं ओवर रेटिंग करने वाले व्यापारी अपनी पौवाराह कर मौज उड़ा रहे हैं। कुछ छोटे किराना व्यवसाई एवं दुकानदार कहते हैं कि बड़े व्यापारी खुद दाम बढ़ाकर छोटे व्यापारियों को सामान दे रहे हैं तो छोटा व्यापारी क्या करें। अगर कार्रवाई की जाए तो नगर पूरनपुर के अंदर जो व्यापारी बैठे हैं उनके गोदाम में छापेमारी करें तो सारी कालाबाजारी सामने आ जाएगी। देश में लॉकडाउन की वजह से जनता घरों में बैठी है आज गरीब का यह हाल है कि उसके पास पैसा नहीं है अनाज या सामान लेने के लिए गरीब आदमी इतना परेशान है कि कुछ जगह देखने पर ऐसा लगा कि उनके घर पर 2 दिन से खाना नहीं बना क्योंकि उनके पास पैसा नहीं है और इधर पूरनपुर के बड़े व्यापारी कालाबाजारी में लगे हुए हैं। यही हाल सब्जियों की दुकानों पर भी देखने को मिल रहा है। लॉक डाउन से पहले तक के जो आलू 20 किलो मिलता था आज उसकी कीमत 45 से 40 हो गई है जो भिंडी 20 किलो मिलती थी आज उसकी कीमत 60 किलो हो गई है सब्जियों के दाम दूने तिगने हो गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार से मेरी अपील है कि पूरनपुर के थोक व खुदरा व्यापारियों की जांच कराकर कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों पर शिकंजा कसा जाए ताकि पूरनपुर नगर क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र के बाशिंदे कोरोना वायरस की वजह से किए गए लॉक डाउन का पालन करते करते भूखमरी के कारण काल के गाल में ना समा जायें। कोरोना वायरस जैसी महामारी से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा की गई अपील के चलते घरों में बैठे हुए हैं लोगों की मजबूरी का फायदा उठाने वाले अनाज व्यापारियों, सब्जी व्यापारियों, फल व्यापारियों सहित किराना व्यापारियों पर ओवर रेटिंग के चलते जिला प्रशासन द्वारा क्या प्रभावी कार्रवाई की जाती है, यह अब देखने वाली बात है।

वही जिला अधिकारी द्वारा बताया गया कि ऐसे लोग राष्ट्र द्रोह किस श्रेणी में आते हैं और साथ ही ऐसे लोगों पर कड़ी कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए हैं अब देखने वाली बात यह होगी किस जिला अधिकारी द्वारा पूरनपुर उप जिला अधिकारी को दिए गए निर्देशों कितना पालन किया जाता है और कितने दुकानदारों पर कानूनी कार्रवाई की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *