Thu. Oct 29th, 2020

रेलवे स्टेशन सन्नाटा पसरा हुआ है, वजह है कोरोना

संजय शुक्ला पीलीभीत मो0 9058551162

स्लग÷रेलवे स्टेशन सन्नाटा पसरा हुआ है, वजह है कोरोना

एंकर÷यूपी के पीलीभीत रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा पसरा हुआ है, वजह है कोरोना. पूर्णागिरि मंदिर मेले में रोक लगने के बाद से स्टेशन पर यात्री नहीं दिखाई दे रहे हैं. इसी स्टेशन से भक्त टनकपुर रेलवे स्टेशन जाते हैं,

 

जहां से पूर्णागिरि मंदिर की चढ़ाई शुरू होती है.

 

कोरोना के चलते पूर्णागिरि मंदिर में चल रहे मेले पर भी रोक लगा दी गई है. रोक के चलते पीलीभीत रेलवे स्टेशन से टनकपुर जा रहे श्रद्धालुओं में काफी मायूसी देखने को मिल रही है. लोगों को दर्शन करने जाने नहीं दिया जा रहा है.

 

पूर्णागिरि मंदिर पूरे देश की शक्तिपीठ में से एक है. यहां पर मां पार्वती की नाभि कट कर गिरी थी, जिसके चलते यह सभी शक्तपीठियों मे विशेष मानी जाती है. यहां होली से लेकर नव दुर्गा तक विशाल मेले का आयोजन किया जाता है. मेले में देश-विदेश के लोग भारी संख्या में मां पूर्णागिरी के दर्शन के लिए जाते हैं.

 

विशेष बात यह है कि मां पूर्णागिरी के दर्शन करने जाने के लिए लोगों को सबसे पहले पीलीभीत आना पड़ता है. पीलीभीत से ही ट्रेन के द्वारा टनकपुर रेलवे स्टेशन तक जाया जाता है, जहां से पूर्णागिरी देवी मंदिर की चढ़ाई चालू होती है..

 

कोरोना के चलते नेपाल के सभी जनपदों में सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है. साथ ही उन सभी जगह को भी बंद कर दिया गया, जहां पर भारी संख्या में लोग एकजुट होते हैं. मां पूर्णागिरि के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं से भरे रहने वाले पीलीभीत रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा पसरा पड़ा है. पूर्णागिरि मन्दिर की तरफ टनकपुर जाने वाली ट्रेनों में भीड़ बिल्कुल भी नही है. वहीं टनकपुर से वापस आने वाली ट्रेन से लोग मायूस होकर वापस घर जाने के लिए पीलीभीत रेलवे स्टेशन पर उतर कर अपने घर जा रहे हैं.

स्टेशन अधीक्षक धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि अभी तक तो श्रद्धालुओं की संख्या ठीक थी. जबसे मंदिर मेले पर रोक लगा दी गई है तब से लोग मंदिर से वापस लौट रहे हैं.

वाईट÷धर्मेंद्र कुमार स्टेशन अधीक्षक पीलीभीत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *