Mon. Oct 26th, 2020

पीलीभीत के विद्यालय में मानक विहीन वाहन से प्रतिदिन बच्चे होते हैं हादसे का शिकार

पीलीभीत स्कूलों में मानकबिहीन वाहन जिससे होते हैं आये दिन हादसे।

 

 

पीलीभीत स्कूलों में मानक विहीन वाहनों के कारण हादसे होते रहते हैं लेकिन पीलीभीत के परिवहन विभाग मौन बना रहता है ऐसा ही एक मामला धनकुना के जीआरडी पब्लिक स्कूल में बीते दिनों हुआ जिसमें टेम्पो में 17 बालक बैठे थे और टेम्पो को एक नाबालिग लड़का जिसकी उम्र 15 वर्ष थी चला रहा था ।

टेम्पो तेज गति के कारण अनियंत्रित होकर पलट गया था जिसमें बैठे 17 बच्चों में से 8 बालक घायल हो गए थे जिसमें से एक 10 वर्षीय बालक गंभीर रूप से घायल हो गया था जिसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था वहां से हालत नाजुक देख उसे निजी अस्पताल में (डॉ तरुण सेठी) के यहां उसका इलाज हुआ जिसके सर में काफी चोट लगी थी।

।जीआरडी पब्लिक स्कूल में कुछ बसें भी हैं जो बिल्कुल कंडम हैं और काफी पुरानी हैं उन्हीं से बच्चों लाया जाता है लेकिन स्कूल प्रबंधक ओमप्रकाश भारती का कोई ध्यान नही है और वह बच्चों को टेम्पो से ही बच्चों को लाते हैं।हादसे बाले दिन प्रबंधक ओमप्रकाश भारती ने हादसे से अपना बचाओ करने के लिए सब से झूँठ बोल दिया कि टेम्पो बच्चों के अभिभाबकों ने भेजा था।

 

 

उनके स्कूल का नही था।लेकिन जब मीडिया द्वारा इसकी खोजबीन की गई तब स्कूल प्रबंधक के ही लड़के ने मीडिया के सामने कहा कि टेम्पो उसके पिताजी ने भेजा था और वह भी साथ गया था उसने खुद 17 बच्चों को बिठाया था वहीं अभिभाबकों का कहना है कि प्रबंधक का ही दूसरा लड़का जिसकी उम्र 15 बर्ष है वह चला रहा था टैम्पो और वह ही रोज चलाता है तेज रफ्तार से स्कूल बसों को और टैम्पो को एआरटीओ पीलीभीत ने मौके पर जाकर देखा था लेकिन स्कूल प्रबंधक पर अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है और वही मानक विहीन वाहन स्कूल में चल रही हैं।जिले में बहुत से ऐसे स्कूल हैं जहां पर बच्चों को ठूँस ठूँस कर टैम्पो में भर कर लेजाया जाता है।और परिवहन अधिकारी सब कुछ देखते रहते हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *