Sun. Oct 25th, 2020

जाल साजी के परमिट पर मिट रही है ,जंगल की हरियाली दोषी कौन ?

संजय शुक्ला पीलीभीत मो0 9058551162

स्लग-वन तस्करी

 

एंकर-पीलीभीत में जालसाजी से पेडो का परमिट बना कर जंगल का सफाया करा जा रहा है डीएम एसपी ने मामले मे जब प्रारभिक जांच कराई तो निकल कर आया कि वन विभाग ने 8 लोगो को उनकी निजि जमीन पर खडे 19 पेड काटने की अनुमति दी लेकिन जिन लोगो को अनुमति दी गयी वहॉं न तो पेड है और न ही जमीन। l

इस परमिट के आड में वन माफियाओ ने टाईगर रिजर्व के जंगल से तीन रंग वाली बेषकीमती ष्षीषम के पेडो को काट लिया जिसकी कीमत लाखो मे है कई विभागो के कर्मचारियो व अधिकारियो पर कार्यवाही होना तय है
वी/ओ 01 यह जो पेडो की कटे अवषेष के रूप में आप जडे देख रहे है यह पीलीभीत के टाईगर रिजर्व का नजारा है वन तस्करो ने वनकर्मियो के साथ मिलकर एक खेल रचा जिसमें डीएम एसपी भी इनके हिम्मत की दांत दे रहे है रातो रात फर्जी परमीट के आडे में तीन रंग के षीषम के 46 पेड काट लिये। एक पेड की कीमत एक लाख रूप्ये बताई गयी है

बाइट-वैभव श्रीवास्तव/डीएम पीलीभीत

बाइट-अभिषेक दीक्षित /एसपी पीलीभीत

वी/ओ 02 दरअसल पीलीभीत का चंदिया हजारा गांव टाईगर रिजर्व के नजदीक है इस गांव के कई लोगो की जमीन ष्षारदा नदी मे बरसो पहले कट गयी थी अब यह लोग जंगल की जमीन पर रह रहे है डीएम एसपी को एक षिकायत मिली की वन तस्करो ने पीलीभीत टाईगर रिजर्व के जंगल से करोडो रूप्यो के पेड काट लिये। जांच में सामने आया कि नवम्बर 2019 में लकडी ठेकेदार असलम खॉं,इमरान खॉं व काले खॉ ने गांव के उमेष,कंचन,राजेन्द्र,बलदेव,महादेव,पंचम व निजामुददीन के आधार कार्ड व जमीनो के कागज लिये और वन विभाग के अफसरो एंव राजस्व कर्मीयो से सेंटिंग करके कार्यालय से 19 पेडो का परमीट करा लिया मजे की बात यह है कि जिन किसानो के आधार कार्ड लेकर परमीट लिये गये उनकी ष्षारदा नदी में कई साल पहले कट चुकी थी न तो जमीन थी और न ही पेड। इन ठेकदारो पे पीलीभीत टाईगर रिजर्व के हरीपुर रेंज से 172 पेड काट लेने का आरोप है जांच के दौरान अभी पुलिस व जिला प्रषासन ने 46 पेड की जडे बरामद कर ली है आरोपियो ने सबूत मिटाने के लिए जडो को जलाने की भी कौषिष की। टीम मामले में बाकी पेडो की जडे तलाष रही है इस खेल में वन विभाग व राजस्व विभाग के कर्मचारियो ने इन तस्करो के साथ दिया और यह परमीट की आड में जंगल का सफाया करा दिया। जांच में यह भी सामने आया है कि जिन किसानो से आधार कार्ड लिये उन्हे प्रति पेड 3000 रूप्ये दिये गये साथ हीष्षीषम के पेडो को काटकर सहारनपुर,षाहजहापुर व लखीमपुर में भेजा गया है जांच रिर्पोट डीएम व एसपी की ओर से तैयार की जा रही है जिसमें कई अधिकारी व कर्मचारियो की गर्दन फंस गयी है

बाइट-ग्रामीण

वी/ओ 03 र्प्यावरण संतुलित बनाए रखने को हरियाली बचाने के लिए तमाम सरकारी गैर सरकारी प्रयास किये जा रहे है तो वही जिन हाथो में इसको बचाने की जिम्मेदारी दी गयी उसने ही जंगलो को साफ करा दिया अब देखना है कि जिले के डीएम एसपी द्वारा करायी गयी जांच के बाद कब तक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *