Wed. Oct 21st, 2020

ढखेरवा के प्राइवेट अस्पताल में इलाज के नाम पर मरीजों से हो रहा शोषण प्रशासन मौन

ढखेरवा के प्राइवेट अस्पताल मे इलाज के नाम पर मरीजों का हो रहा शोषण , प्रशासन मौन

जनपद लखीमपुर खीरी के ढखेरवा चौराहे पर चल रहे एक प्राइवेट अस्पताल मे मरीजों का इलाज के नाम पर जमकर शोषण किया जा रहा है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग सब कुछ जानते हुए भी इस अस्पताल पर कोई कार्यवाई नही कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते कई मरीज अपनी जान गंवा चुके है, वही कई लोग महंगे इलाज के चलते अपनी जमापूंजी लुटा चुके हैं ।
जानकारी के अनुसार खीरी जनपद के ढखेरवा चौराहे पर भारती हॉस्पिटल के नाम से एक प्राइवेट अस्पताल संचालित हो रहा है। आरोप है कि इस अस्पताल मे इलाज कराने आये मरीजों का इलाज के नाम पर जमकर शोषण किया जाता है। लोगो का कहना है कि अस्पताल के बोर्ड व पर्चे पर नामचीन चिकित्सकों के नाम लिख रखे है। उन्ही चिकित्सकों का नाम सुनकर लोग इलाज कराने के लिए आते है और झोलाछाप डाक्टरों के जाल मे फंस कर अपनी मेहनत की कमाई गंवा बैठते है। यहां अपने मरीज का इलाज कराने आये एक तीमारदार ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि भारती हॉस्पिटल के संचालक ने पूरे क्षेत्र में अपने एजेंट लगा रखे है, जो मोटे कमीशन के लालच मे मरीजो को अस्पताल लेकर आते है। जहां लोग अस्पताल की चमक दमक व एजेंटों के बहकावे मे आकर अपने मरीज को अस्पताल मे भर्ती करा लेते है तथा झोलाछाप डाक्टर के हाथों अपनी जमापूंजी लुटा बैठते है। एक अन्य व्यक्ति ने जानकारी देते हुए बताया कि जब इनके इलाज से मरीज स्वस्थ नही हो पाता तो ये मरीज को लखनऊ के ऐसे अस्पताल मे भेज देते है, जहां इनकी प्रति मरीज दस से बीस हजार तक की सेटिंग होती है। ज्ञात हो कि अभी कुछ दिनो पहले ही सीएमओ खीरी के निर्देशन में रमियाबेहड सीएचसी प्रभारी डाक्टर सुभाष वर्मा की टीम ने ढखेरवा चौराहे के विभिन्न अस्पतालों का निरीक्षक किया था। इस निरीक्षण मे टीम को भारती हॉस्पिटल समेत अन्य अस्पतालों में कई खामियां मिली थी। भारती हॉस्पिटल मे तो जांच टीम को अस्पताल मे कोई भी डिग्री होल्डर डाक्टर मौजूद नही मिला था, जबकि अस्पताल के बाहर लगे बोर्ड पर स्त्री रोग विशेषज्ञ डा शैलजा विज्ञानी मिश्रा एमबीबीएस, डा अजय वर्मा बीएएमएस तथा डा हुमा आजमी बीयूएमएस के नाम अंकित है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भारती हॉस्पिटल को इस संबंध मे नोटिस देकर दो दिन मे जवाब मांगा था लेकिन अभी तक अस्पताल की तरफ से कोई जवाब विभाग को नही दिया गया है। फिलहाल भारती हॉस्पिटल सभी नियमों को ताक पर रखकर मरीजो के अमूल्य जीवन के साथ लगातार खिलवाड कर रहा है। सबसे अहम सवाल यह है कि खीरी जनपद के स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी इस अस्पताल पर कोई कार्यवाई करने से क्यो कतरा रहे हैं ?

सुधीर गुप्ता
जिला ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *