Fri. Oct 23rd, 2020

प्रशासन ने किया सोनू हत्या कांड का खुलाशा


पीलीभीत


पीलीभीत स्वाट ब सर्विलांस टीम की मदद से थाना बिलसंडा पुलिस ने चर्चित सोनपाल उर्फ सोनू हत्याकांड का आज खुलासा कर दिय है

इस मामले में पुलिस ने गोवंश पशुओं को क्रूरता पूर्वक ले जाने वाले तथा पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नीयत से हमला करने वाले पांच अभियुक्तों को आला कत्ल
व नाजायज असलाह के साथ गिरफ्तार कर लिया।
चर्चित हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने बताया कि बिलसंडा क्षेत्र के ग्राम मोहनपुर बबुरा में 21 अगस्त को सोनपाल उर्फ सोनू पुत्र खंजन लाल निवासी ग्राम मोहनपुर बबुरा को गोली मारकर घायल कर दिया था इस घटना को लेकर थाना बिलसंडा में धारा 254/19 धारा 307 भारतीय दंड विधान के अंतर्गत अज्ञात पर मुकदमा पंजीकृत कराया गया था लेकिन घायल सोनू की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी जिस वजह से मुकदमा में 302 की बढ़ोतरी की गई और अज्ञात आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए स्वाट ब सर्विलांस टीम को लाया गया पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 25 अगस्त को मुखबिर सूचना पर लगभग रात 10:20 पर चौराहे पर घूम रहे आरोपियों के द्वारा पुलिस टीम पर जाने जान से मारने की नियत से अवैध तमंचे से फायर किया गया पुलिस टीम द्वारा अपना बचाव करते हुए रवि उर्फ रवि उल्ला पुत्र अब्दुल हुसैन निवासी लोहार गबा थाना निगोही जनपद शाहजहांपुर इस्तीयाक उर्फ कमांडो पुत्र शौकीन निवासी मोहल्ला खेड़ा थाना निगोही जनपद शाहजहांपुर फरीद बाबू निवासी मोहल्ला ग्यास्पुर कस्बा थाना बीसलपुर पीलीभीत को गाड़ी नंबर यूपी 12के 9995गोवंशीय पशु सहित अवैध तमंचा 315 बोर के साथ गिरफ्तार किया गया पूछताछ में तीनों आरोपियों ने 21 अगस्त 2019 को अपने साथियों के साथ ग्राम मोहनपुरा बबुरा की घटना में शामिल होने की बात भी कबूल कर लिया है पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर रात लगभग 2:20 पर सुहेला भट्टे पर 200 मीटर दूर ताल गांव की तरफ से दो अन्य आरोपियों मोहम्मद हनीफ उर्फ मुन्ना चिकना और पुत्र हामिद हुसैन निवासी मोहल्ला खेड़ा थाना निगोही जनपद शाहजहांपुर तथा मेहंदी हसन पुत्र अलफज खान निवासी ग्राम नागवा आंवर थाना बिलसंडा पीलीभीत को तमंचा 315 बोर दो जिंदा कारतूस गिरफ्तार किया गया पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों को 21 अगस्त की घटना होने वाली द्वारा मृतक सोनपाल पर फायर किया जाना स्वीकार किया गया तथा घटना में प्रयुक्त पिकअप गाड़ी नंबर यूपी 26 0871 के साथ गिरफ्तार किया गया ।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पांचों आरोपियों का अपाराधिक इतिहास रहा है उन्होंने कहा कि आरोपियों की जमानत लेने वाले पर भी कार्रवाई की जाएगी उन्होंने बताया कि इसका पता लगाया जा रहा है कि सभी आरोपियों पर हत्या करने में 302 तथा गोवध अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने घटना का खुलासा करने वाली टीम को ₹10000 इनाम देने की घोषणा की है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *