नागपंचमी के दिन सर्पो को पिलाया दूध हज़ारो से संख्या में लगे मेले सर्पदंश के पीड़ितों को किया बंधन मुक्त

नागपंचमी पर्व पर लगे मेले, सर्पो को पिलाया दूध, मंत्रों के उच्चारण के साथ सर्पदंश पीड़ितों के बंद काटे

पीलीभीत। ग्रामीण क्षेत्र में नागपंचमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। लोगों ने घरों में नागदेवता की पूजा-अर्चना कर उनको दूध और चने का प्रसाद खिलाया। पर्व पर तकियादीनारपुर के नागराज मन्दिर, अमरैयाकलां के लालबाबा मन्दिर, कलीनगर रोड पर तकिया के गुरु कृपा धाम मंदिर और लम्बौआ के मन्दिर पर भारी भीड़ रही।
अमरैयाकलां। गांव के देवीस्थान पर हर वर्ष की भांति नागपंचमी पर्व पर मेला लगा। जिसमें बच्चों ने खेल-खिलौनों की दुकानों पर खरीददारी की और बच्चों ने झूला झूले तथा क्षेत्र में सर्प दंश का शिकार हुए लोगों के उपचार के समय लगाए गए बंधों को बैगियों ने झाड़ फूंककर मंत्रों के माध्यम से करीब 10 लोगों को बंधों से मुक्त किया। इस मौके पर ओमकार कुशवाहा, गंगाराम, हरभजनसिंह, वासुदेव, रामप्रसाद, ख्यालीराम, फूलचंद, चेतराम, इतवारीलाल, लालाराम, प्रेमचन्द्र, रामभरोसे, रामनरेश, सरोज यादव, चंद्रपाल, विजयकुमार, भारतसिंह, वीरू, रामपाल, हर्षित कुशवाहा, जगदीश प्रसाद, रामशरण आदि मौजूद रहे।

गजरौला कस्बा मे घुम घाम से नाग पंचमी का पर्व मनाया गया। लोगों ने घरो मे नाग देवता की पूजा अर्चना करके नाग देवता को दूध और चने का प्रसाद खिलाया।शुभ अवसर पर कस्बा मे जूनियर हाईस्कूल मे दिवसीय मेला का आयोजन किया गया।जिसमें वच्चों ने मेले का भरपूर आनंद उठाया और खेल खिलौने खरीदे इस मौके पर कस्बा के सभी गणमान्य लोग मेले मे उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *