वन विभाग कर्मचारियों मस्त , कीमती हरे पेडों को काटने बाले जर्दस्त

[6/11, 18:30]

Raju Shrewastaw Pilibhit

: जिला पीलीभीत में शामिल वन विभाग पिपरा मुद्दा बन चौकी है जो 2 साल पूर्व ही मैलानी बफर जोन लखीमपुर में शामिल किया गया है इससे पूर्व या वन क्षेत्र खुटार के अंतर्गत आती थी इसमें खुलेआम हरे पेड़ बेशकीमती लकड़ी को काटकर कौड़ियों के भाव बेचा जा रहा है

इसकी शिकायत कर्मचारी से लेकर जिले के आला

अधिकारी देखो तक से की जाती रही है पर हर बार अधिकारियों द्वारा शिकायत को नए अंदाज किया गया हरीपुर रेंज से भी बड़ा मामला इस क्षेत्र का है




जिले से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मर जाएगा इसकी शिकायत राजकुमार श्रीवास्तव ने मंत्री से फोन पर बात आकर पूरे प्रकरण से अवगत करा दिया गया है उन्होंने ही शीघ्र शासन दिया है कि इसकी जांच कराकर दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी मंत्री जी को बताया कि पिपरा बंदी पर तैनात नवीन सिंह यहां 8 साल से एक ही चौकी पर तैनात है इसकी शिकायतें भी अधिकारियों से होती रही हैं पर हर बार अधिकारियों द्वारा उसे बचाने का प्रयास किया गया है आखिर क्या कारण है कि अधिकारियों का इस कर्मचारी को संरक्षण प्राप्त है
पर तैनात फर्स्ट ईयर का रहन-सहन देखकर लगता है इसके आगे तो रेंजर डीएफओ भी फेल है इसकी पत्नी ब्यूरो गाड़ी से बाजार करने आती है तथा गाड़ी से ही घूमती है तथा बन चौकी पर 24 घंटे जनरेटर सुविधा उपलब्ध है 1 कर्मचारियों का ठाठ देखकर लगता है कि जिले के किसी आला अधिकारी का यह रहन-सहन है क्या यह अधिकारियों को पता नहीं

पिपरा बन चौकी जो मालानी रेंज बफर जोन के अंतर्गत आती है यहां वहां का बाद का चांद करा कर पेड़ की जड़ को कुल्हाड़ी से कटवा कर जल पर मिट्टी का पहचान करा दिया जाता है ताकि देखने से अधिकारियों को पता ना चले सके यहां से पेड़ काटा गया है ऐसे सैकड़ों स्थान मिलेंगे जहां पेड़ काटकर मिट्टी से काटा गया है इस समय युधिस्टर पर हिजड़ो का खुदान कर मिट्टी डालने का काम चल रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *