Sun. Jan 24th, 2021

गरीब बच्ची का दाखिला लेने में आरएसडी स्कूल प्रधानाचार्य की आनाकानी, बीएसए का आदेश ठेंगे पर, शासन में शिकायत

: गरीब बच्ची का दाखिला लेने में आरएसडी स्कूल प्रधानाचार्य की आनाकानी, बीएसए का आदेश ठेंगे पर, शासन में शिकाय

पूरनपुर। शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत गरीब बच्चों का प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश होना चाहिए और ऐसे बच्चों को पढ़ाई का लाभ मिलना चाहिए परंतु पूरनपुर में पढ़ाई तो दूर की कौड़ी साबित हो रही है प्रवेश के लिए ही टरकाया जा रहा है। यहाँ के आरएसआरडी सरस्वती विद्या मंदिर सीबीएसई स्कूल बच्चे का दाखिला ही नहीं कर रहा है। विद्यालय के प्रधानाचार्य नित नए बहाने बना रहे हैं । नारायनपुर पंकज कॉलोनी निवासी हरिओम उपाध्याय ने अपनी पुत्री का दाखिला कराने के लिए बीएसए के यहां से आदेश करा दिया था। यह आदेश विद्यालय में पहुंच चुका है। आदेश की कॉपी लेकर जब विद्यालय गए तो पहले प्रधानाचार्य ने विद्यालय का नाम गलत होना बताया। बाद में दाखिला लेने से ही साफ मना कर दिया और अभद्रता करते हुए सरकारी स्कूल में दाखिला कराने को कहा। इसकी शिकायत श्री उपाध्याय ने खंड शिक्षा अधिकारी से करते हुए प्रवेश दिलाने की मांग की।

इस पर खंड शिक्षा अधिकारी ने जिलाधिकारी व बीएसए का देश बताते हुए प्रवेध लेने को कहा परंतु आरोप है कि विद्यालय के प्रधानाचार्य रामवीर सिंह ने खंड शिक्षा अधिकारी का आदेश मानने से इनकार कर दिया। अब इस मामले की शिकायत हरिओम द्वारा जिलाधिकारी व जिला सिक शिक्करी से की गई है। मुख्यमंत्री ऑनलाइन पोर्टल पर भी इस मामले की शिकायत दर्ज कराई गई है। आरोप है कि मोटी फीस वसूलने वाला यह स्कूल गरीब बच्चों को टरका रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

*पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा थाना बीसलपुर पर किया गया अर्दली रूम*                        आज दिनांक 16-01-21 को पुलिस अधीक्षक पीलीभीत श्री जयप्रकाश महोदय द्वारा थाना बीसलपुर पीलीभीत पर अर्दली रूम किया गया जिसमें अपराध नियंत्रण व विवेचनाओं की जानकारी ली। सर्वप्रथम महोदय ने महिला हेल्प डेस्क कार्यालय, थाना कार्यालय, सीसीटीएनएस कार्यालय, बैरिक, हवालात, मैस एवं थाना परिसर का भी निरीक्षण किया गया तथा साफ सफाई रखने आदि आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए, इसके उपरांत पुलिस अधीक्षक महोदय ने कोरोना वायरस के दृष्टिगत सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुये एक-एक कर सभी विवेचकों से विवेचनाओं की जानकारी ली और सभी विवेचकों से लंबित विवेचनाओं को शीघ्र निस्तारित करने एवं वांछित अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी के निर्देश दिये।